'google658fd05d77029796.html' The Valentine Poem | The Original Poetry




नज़र झुका, शरम सुरूर आने दे 
झटक घटा, गरल ग़ुरूर आने दे
दबा के होंठ जला दे दिये सितारों में,
तू मुस्कुरा, ख़ुदा का नूर आने दे

ग़ज़ल में है, तू ही गुलाल में है
बहस में है, तू ही बवाल में है
न रिवाज़ों में न ही है किसी किताब में तू
तू लिफाफों में बंद बिंदियों के लाल में है 

रंक की जीत, भैरवी राग हो तुम
भृंग का गीत, प्रगड़ पराग हो तुम
न तुम्हें बाँध सके शब्द कोई गीत कोई
हो जल का दुःख, अचल की आग हो तुम

फ़िक्र में हूँ, तू मेरी धमनियों में रज
तू मंदिरों की मग्‍न घंटियों में बज
चैत की सुस्त शिथिल चाल बदल,
तू पतंगों से सनी पंक्तियों में सज 

यूँ ही कल रात तेरा ज़िक्र तेरी बात चली
दख्ल-अंदाज़ी तेरी हर साँस पर बेबाक चली
अफ़वाहें बड़ी गुज़री तेरे मोड़ से गुजरने की,
चहलकदमी बड़ी उस मोड़ पर तेरे बाद चली

उंगलियां फ़ेर कर लिख दे तू कहानी मेरी
भंवर की गोद में लिपटी है रवानी मेरी
भिगा दे रूह को ऐसी कोई बरसात कर,
मुझे छूंकर जवां कर दे तू जवानी मेरी

Love is composed of a single soul inhabiting two bodies.
    - Aristotle


nazar jhuka, sharam suroor aane de
jhatak ghata, garal guroor aane de
daba ke hont jala de diye sitaron me
tu muskura, khuda ka noor aane de

ghazal mein hai, tu hi gulaal mein hai
behas mein hai, tu hi bawaal mein hai
na riwaazon mein na hi hai kisi kitaab mein tu
tu lifaafon me band bindiyon ke laal mein hai

rank ki jeet, bhairavi raag ho tum
bhring ka geet, pragad parag ho tum
na tumhe baandh sake shabd koi geet koi
ho jal ka dukh, achal ki aag ho tum

fikr me hu, tu meri dhamniyon me raj
tu mandiron ki magn ghantiyon me baj
chait ki sust shithil chaal badal,
tu patangon se sani panktiyon me saj

yun hi kal raat tera zikra teri baat chali
dakhal-andaazi teri har sans par bebak chali
afwahein badi guzri tere guzarne ki,
chehal kadmi badi uss mod par tere baad chali

ungliya fer kar likh de tu kahani meri
bhanwar ki god mein lipti hai rawani meri
bhiga de rooh ko aisi koi barsaat kar,
mujhe chhoon kar jawaa kar de tu jawani meri

Deepak Kripal

Leave a Reply

    Follow by Email

    Attribution

    Have a great time!

    Total Pageviews